जीवन साथी या परिवार के लोग हर 11 मिनट में कर देते हैं 1 महिला की हत्या: UN महासचिव- News X

0
102

हाइलाइट्स

गुटेरेस ने कहा- हर 11 मिनट में एक महिला या लड़की को उसके जीवन साथी या परिवार के सदस्य मार देते हैं.
गुटेरेस का ये बयान ऐसे समय पर आया है जब देश श्रद्धा वालकर की जघन्य हत्या की घटना से हिला हुआ है.
गुटेरेस ने सरकारों से महिला अधिकार संगठनों के लिए फंड 50 फीसदी बढ़ाने की अपील की.

न्यूयॉर्क. हर साल 25 नवंबर को मनाए जाने वाले ‘महिलाओं के खिलाफ हिंसा के उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस’ से पहले संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने एक संदेश में कहा कि महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा दुनिया में मानवाधिकारों का सबसे बड़ा उल्लंघन है. उन्होंने कहा कि हर 11 मिनट में एक महिला या लड़की को उसके जीवन साथी या परिवार के सदस्य द्वारा मार दिया जाता है. गुटेरेस का ये बयान ऐसे समय पर सामने आया है जब देश दिल्ली के महरौली में एक युवती की उसके लिव इन पार्टनर द्वारा की गई भीषण हत्या और शरीर के टुकड़े-टुकड़े करने की घटना से हिल गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के मुताबिक गुटेरेस ने सरकारों से 2026 तक महिला अधिकार संगठनों और आंदोलनों के लिए फंड को 50 फीसदी बढ़ाने की भी अपील की. संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने आगाह किया कि कोविड-19 महामारी से लेकर आर्थिक उथल-पुथल जैसे दूसरे तनाव भी अनिवार्य रूप से महिलाओं के साथ और भी अधिक शारीरिक और मौखिक दुर्व्यवहार का कारण बनते हैं. उन्होंने कहा कि इसके साथ ही महिलाओं और लड़कियों को घृणा फैलाने वाले भ्रामक बयानों, यौन उत्पीड़न, फोटो के दुरुपयोग जैसे कई तरीकों से बड़े पैमाने पर ऑनलाइन हिंसा का सामना करना पड़ता है.

एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि आधी मानवता को इस निशाना बनाने वाले भेदभाव, हिंसा और दुर्व्यवहार की भारी कीमत चुकानी पड़ती है. यह जीवन के सभी क्षेत्रों में महिलाओं और लड़कियों की भागीदारी को सीमित करता है, उनके बुनियादी अधिकारों और स्वतंत्रता से वंचित करता है. साथ ही ये महिलाओं के समान आर्थिक सुधार और सतत विकास को रोकता है, जिसकी दुनिया को जरूरत है. उन्होंने कहा कि ‘मैं सरकारों से 2026 तक महिला अधिकार संगठनों और आंदोलनों के लिए फंड को 50 फीसदी तक बढ़ाने की अपील करता हूं.’

मुंबई पहुंचे UN चीफ एंटोनियो गुटेरेस, 26/11 हमले के शहीदों को देंगे श्रद्धांजलि, गुजरात भी जाएंगे

गौरतलब है कि हाल ही में संयुक्त राष्ट्र की ‘सतत विकास लक्ष्यों पर प्रगति: लिंग स्नैपशॉट 2022’ नामक एक रिपोर्ट में कहा गया कि घरों के भीतर हिंसा एक गंभीर मुद्दा बना हुआ है. रिपोर्ट से पता चलता है कि विश्व स्तर पर हर 10 में से 1 से अधिक महिलाएं और 15-49 आयु वर्ग की लड़कियां पिछले वर्ष में एक अंतरंग साथी द्वारा यौन और/या शारीरिक हिंसा का शिकार हुई थीं.

Tags: Antonio Guterres, Threat to Human Rights, United nations, Violence against Women

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here